सराय क्रिकेट क्लब के खिलाड़ियों ने दिया ऋषव को बधाई

इस खबर को सुनें

 

भगवानपुर । भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में 319 नौजवानों ने पासिंग आउट परेड के बाद सैन्य अधिकारी बने,इसमें वैशाली जिले के सराय निवासी संजय कुमार उर्फ पप्पू कुमार के पुत्र ऋषव कुमार भी सैन्य अधिकारी बने है। कहते है हौशले बुलंद हो तो मंजिल मिल ही जाती है,कुछ ऐसा ही जजब्बा दिखाया वैशाली जिला के भगवानपुर प्रखंड के सराय बाजार निवासी राम बाबू प्रसाद के प्रपौत्र संजय कुमार उर्फ पप्पू कुमार के पुत्र, भगवानपुर क्षेत्र संख्या 20 के जीप सदस्य आशुतोष कुमार उर्फ दिपू के भतीजा ऋषव कुमार ने।


सराय क्रिकेट क्लब के खिलाड़ियों ने ऋषव के घर जा कर मंगलवार उनकी सफलता पर बधाई दिया । मौके पर भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ के बिहार प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कुणाल कुमार गुप्ता,जिला परिषद के सदस्य आसुतोष कुमार दीपू,पप्पू कुमार,राजा बाबू,रामबाबु प्रसाद,राजेश्वर प्रसाद गुप्ता,पंकज कुमार गुप्ता,भाजपा नेता राजू कुमार,रत्नेश कुमार गुड्डू,भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष सोनू कुमार सिंह,खिलाड़ीयो में कन्हाई कुमार,अनमोल कुमार,रंजन कुमार,चंदन,धीरज,अनिकेत,प्रांणन,मृणाल कुमारआदि मैजुद थे । मालूम हो कि
शनिवार को जब देहरादून में पासिंग आउट परेड के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोबिन्द के समक्ष ऋषव के पिता संजय कुमार उर्फ पप्पू कुमार एवम माता दुर्गावती देवी ने मिलकर जब अपने पुत्र ऋषव के कंधे पर पासिंग आउट के बाद होने वाली पीपिंग सेरेमनी में माता-पिता ने अपने पुत्रब कैडेट्स ऋषव के कंधों पर लगी रैंक से कवर हटाये,उस वक्त ऋषव के माता पिता ही नही चाचा जीप सदस्य आशुतोष कुमार दीपू,राजा बाबू सहित सभी परिवार के लोगो को खुशी का ठिकाना नही रहा। ऋषव के माता दुर्गावती देवी एवम पिता संजय कुमार उर्फ पप्पू कुमार के आखो में खुशी के आंसू छलक आये,इन दोनों ने बताया कि मेरा बेटा की दिली इक्षा सेना में रहकर देश सेवा करने का था जो सपना आज हकीकत में बदल गया। ऋषव के चाचा आशुतोष कुमार दीपू कहते है कि ऋषव शुरू से ही भारतीय सेना में जाने की चाहत थी अपनी जिद एवम कड़ी मेहनत ने ऋषव को आज इस मुकाम पर पहुचा कर हमारे जिला ही नही पूरे राज्य एवम देश का नाम गौरवान्वित किया है। ऋषव के सैन्य अधिकारी बनने के बाद अपने जन्मभूमि सराय में आने पर लोगो ने फूल मालाओं तथा जीप में बैठा कर पूरे गाँव मे घुमा कर भव्य स्वागत किया था । ऋषव के स्वागत में सराय बाजार के बासियों ने अपने अपने घरों पर दीप जलाकर दीपावली मनाई एवम एक दूसरे को मिठाईया खिलाई एवम आतिशबाजी किया।

रिपोर्टर आनंद कुमार सिंह
स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे