वैशाली के राजू खान को डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा गया ..

इस खबर को सुनें

शिक्षा व सामाजिक क्षेत्र में ज़मीनी स्तर से काम करने के लिए थियोफनी विश्वविद्यालय ने वैशाली के राजू खान को डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा..
थियोफनी विश्वविद्यालय, हैती ने दिल्ली पब्लिक स्कूल, सराय, वैशाली के निदेशक शिक्षाविद राजू खान को शिक्षा व सामाजिक क्षेत्र में शानदार काम करने के लिए डॉक्टरेट की उपाधि दी। ये उपाधि उन्हें महर्षि विश्विद्यालय के कुलपति भानु प्रताप सिंह के हाथों द्वारा दी गई। राजू खान ने इस उपलब्धि को तमाम वैशाली के लोगों, बिहारवासी और झारखंडवासी के अलावा देश के तमाम लोगों को समर्पित करते हुए कहा के ये उपाधि पाकर गर्व हो रहा है। राजू खान ने बताया के थियोफनी विश्वविद्यालय यूनाइटेड नेशन का एक सदस्य देश है।

उन्होंने बताया के इसमें 52 चुनिंदा लोगों को डॉक्टरेट की मानद उपाधि दी गई। जब आप समाज के लिए निस्वार्थ रूप से काम करते हैं तो आपके हृदय में अलग खुशी होती है। उन्हें ये सम्मान दिल्ली स्थित IHC में दिया गया जहां उन्हें डॉक्टरेट के प्रमाण पत्र के अलावा गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया। उन्होंने कहा के यूनिवर्सिटी ने 9 जनवरी को पत्र के माध्यम से उन्हें इस उपाधि के लिए सूचित किया। राजू खान लंबे समय से ज़मीनी स्तर पर शिक्षा व सामाजिक काम कर रहे हैं और समाज के दबे कुचले, शोषित, पीड़ित, वंचित व असहाय बच्चों को गोद लेकर उन्हें शिक्षा देने का कार्य कर रहे हैं। राजू खान की इस उपलब्धि पर स्कूल के तमाम शिक्षकों ने उन्हें बधाई व शुभकामनाएं दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। राजू खान ने कहा के शिक्षा के लिए उनका निस्वार्थ प्रयास हमेशा जारी रहेगा और वो एक सभ्य समाज बनाने की दिशा में मज़बूती से प्रयास करते रहेंगे।

उन्होंने कहा के दिल्ली पब्लिक स्कूल, सराय का दरवाज़ा हमेशा गरीब व असहाय लोगों के लिए खुला रहेगा। राजू खान ने बताया के दिल्ली पब्लिक स्कूल, सराय ने लॉकडाउन के दौरान निस्वार्थ रूप से लोगों की मदद की और जहां तक संभव हुआ मानवता को मजबूत करने की कोशिश की। राजू खान ने बताया के ये सम्मान स्कूल के तमाम टीचिंग, नॉन टीचिंग स्टूडेंट्स और मेरे शुभचिंतकों को समर्पित है।

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे